About Lion in Hindi, Essay on Lion in Hindi, Information About Lion in Hindi, Lion in Hindi

Lion in Hindi/ About Lion in Hindi । शेर के बारे में

Lion in Hindi/ About Lion in Hindi । शेर के बारे में : साथियों, आज मैं कक्षा 1 से 12 तक के सभी विद्यार्थियों के लिए शेर पर निबंध (Sher Per Nibandh) लिखी हूं।

इस निबंध अर्थात ‘Lion in Hindi/ About Lion in Hindi’ के माध्यम से मैं आप सबको शेर के बारे में पूरी जानकारी देने का प्रयास करूंगी। तो चलिए, जानते हैं, शेर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें।

Lion in Hindi/ About Lion in Hindi । शेर के बारे में 

शेर को ‘सिंह’ भी कहा जाता है। यह पृथ्वी पर मौजूद सबसे ताकतवर और शिकारी जानवर है। इसकी तुलना हम प्राचीन में डायनासोर से कर सकते हैं।

क्योंकि जिस प्रकार प्राचीन समय में डायनासोर के भय से पूरा जंगल और स्थल के सभी जीव-जंतु भयभीत रहते थे। ठीक उसी प्रकार वर्तमान में शेर के भय से पूरा जंगल भयभीत रहता है।

शेर एक खूंखार जंगली जानवर है। इन्हीं सब कारणों की वजह से शेर को ‘जंगल का राजा’ कहा जाता है। आमतौर पर शेरनी ही शिकार करती है।

आज वर्तमान समय में शेर का शिकार मनुष्यों द्वारा बहुत ही ज्यादा संख्या में हो रहा है। जिसके चलते आज शेर बहुत से देशों में विलुप्त हो चुके हैं और कई देशों में विलुप्त होने के कगार पर पहुंच गए हैं।

जंगलों का उन्मूलन, बदलता जलवायु, इत्यादि के कारण भी शेर विलुप्त हो रहे हैं। इसकी संरक्षण करना अति आवश्यक है, क्योंकि शेर हमारे पर्यावरण और पारिस्थितिकी तंत्र के लिए अनिवार्य है।

Information About Lion in Hindi in 250 Words

शेर जंगल का सबसे शक्तिशाली और हिंसक जानवर होता है। इसके आतंक से पूरा जंगल आतंकित रहता है। शेर (Lion in Hindi/ About in Hindi) खौफनाक एवं मांसाहारी जानवरों की श्रेणी में आता  है।

यह मुख्य रूप से जंगल के सभी जानवर जैसे- हिरन, भैंस, जेब्रा, नीलगाय इत्यादि का शिकार करता है। सबसे रोचक बात तो यह है कि शेर 24 घंटे में लगभग 20 घंटे सोता ही है।

परंतु फिर भी इस के डर से सभी जानवर खौफ में रहते हैं। यही तो शेर का पहचान है। अगर हम शेर को यमराज का दूत कहे तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी, क्योंकि शेर से बच पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होता है।

यह बहुत आक्रमक होता है। इसके गर्दन के चारों और लंबे-लंबे घने बाल होते हैं। साथ ही इसके शरीर पर भी घने बाल होते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि, शेर एक स्तनधारी जंगली जीव है।

इसका आकार कुछ बाघ, चीता के बराबर ही होता है। शेर का दहाड़ लगभग पूरा जंगल में सुनाई देता है। जो इसकी उपस्थिति बयां करती है।

अधिकतम शेर शाम को रात के अंधेरे में झाड़ियों में छिपकर या तालाब अथवा नदियों के किनारे शिकार करते हैं। यह लगभग 80 किलोमीटर प्रति घंटा तेज गति से दौड़ सकता है।

यह वजनदार होता है। आमतौर इसकी कई प्रजातियां होती है। जो विश्व में अलग-अलग भागों में पाए जाते हैं। शेर का रंग (Colour of Lion) काफी विभिन्नता पूर्ण होता है।

यह बफ से लेकर लाल, पीला, गहरा भूरा रंगो का भी हो सकता है। इतना ही नहीं इसके निचले भाग हल्के रंग के होते हैं। साथ ही इसके पुंज का अंतिम छोर वाला भाग काला होता है।

Eassy on Lion in Hindi in 350 Words

जिस प्रकार सार्क समुद्र का राजा होता है। उसी प्रकार शेर जंगल का राजा होता है। शेर का जंगल के सभी जीव-जंतु पर अधिकार होता है। भले ही शेर जंगल के अन्य जानवरों से छोटा हो।

परंतु जंगल में तो शेर का ही बोलबाला रहता है। शेर हमेशा 10-15 कि झुंड में रहता है और उसका मुखिया सबसे ताकतवर शेर होता है। इसके शरीर की मांसपेशियां बहुत ही मजबूत होती है।

इसके पकड़ से बच पाना मुश्किल होता है। यह जब किसी जानवर का पीछा करता है तो उसको मार कर ही छोड़ता है। इसके चार मजबूत पैर होते हैं। साथ ही इस के पंजों में बहुत ही मजबूत नुकीली नाखून होती है।

इतना ही नहीं बल्कि शेर का जबड़ा बहुत बड़ा होता है। जिसमें दो नुकीली दांते होती है। जिसकी सहायता से शेर किसी भी जानवर के मोटे से मोटे चमड़ा को फाड़ देता है।

शेर के समूह को ‘प्राइड’ कहा जाता है। जिसमें शेरनी, शेर और शेर के शावक अर्थात शेर बच्चे होते हैं। यह एक संवेदनशील प्रजाति है। जिसकी संख्या में पिछले कुछ दशकों में भारी गिरावट आई है।

वैसे दुनिया भर में सिंह के अनेक प्रजातियां पाई जाती है। सबसे खास बात तो यह है कि शेर शेरनी के अलावा मादा बाघ के साथ भी प्रजनन करता है। जिससे ‘संकर’ उत्पन्न होता है।

शेर का औसत आयु काल (Average Age of Lion) 20 वर्षों का होता है। यद्यपि शेर मनुष्यों का भक्षण नहीं करता है। परंतु जब शेर भूखा होता है, तो उसे मनुष्यों का भी भक्षण करते देखा गया है।

यह एक आदमखोर नरभक्षी है। शेर के शावक की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि, जन्म के कुछ दिनों बाद तक यह तेंदुए जैसा दिखता है।

शेर की एक विशेषता यह भी है कि, जब शेरनी शिकार करती है तो शिकार को सबसे पहले शेर खाता है फिर शावक और शेरनी खाती है। औसतन शेर 1 दिन में 2 घंटे तक चल सकता है।

शेर एक आरामप्रिय जानवर है, जो अपना 90% समय आराम करने में ही बिता देता है। शेर के घटते संख्या का एक कारण शावकों का उच्च मृत्यु दर भी है, क्योंकि शेरनी का लगभग 80% शावक मर जाते हैं।

हमारे भारतीय संस्कृति में शेर का विशेष महत्व (Importance of Lion) है। शेर (Lion in Hindi/ About Lion in Hindi) का जंगल में अहम एवं महत्वपूर्ण स्थान है।

Lion Essay in Hindi in 550 Words

शेर का वैज्ञानिक नाम (Scientific Name of Lion) “Panthera leo” होता है। वैसे शेर को बिल्ली का ही दूसरा सबसे बड़ा प्रजाति माना जाता है।

यह तो हम सभी जानते है कि, शेर एक मांसाहारी जानवर (non-vegetarian animal) है। शेर समूचे जंगल का सबसे शक्तिशाली और ताकतवर जानवर होता है।

यही कारण है कि, शेर को जंगल का राजा कहा जाता है। शेर का जीवन काल औसतन 15 से 20 वर्षों का होता है। साथ ही इस का वजन लगभग 250kg तक हो सकता है।

इतना ही नहीं बल्कि शेर लगभग 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता है। साथ ही साथ लंबा छलांग भी लगा सकता है।इसके शरीर पर छोटे-छोटे भूरे बाल होते हैं।

जबकि इसके गर्दन पर काफी लंबे-लंबे और घने बाल होते है। शेर की शारीरिक संरचना काफी अद्वितीय होती है। जो जंगल के जानवरों से भिन्न काफी हष्ट -पुष्ट होता है।

इसके चारों पैरों में नुकीला और मजबूत नाखून होता है। इसकी आंखें रात में चमकदार होती है। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि शेर के दहाड़ को लगभग 5 से 7 किलोमीटर दूर से ही सुना जा सकता है।

शेर जंगल का सबसे महत्वपूर्ण जानवर है। जिसके डर से जंगल के सारे जानवर खौफ में रहते हैं। शेर का सबसे प्रिय शिकार हिरण, भैंस ,जेब्रा इत्यादि होता है।

शेर के ताकत का अंदाजा हम इस बात से लगा सकते हैं कि, शेर हाथी को भी अपना शिकार बना लेता है। जो शेर से कई गुना भारी जानवर होता है।

हमारी भारतीय समाज में सबसे बहादुर व्यक्ति की तुलना शेर से की जाती है। आमतौर पर शेर एशिया और अफ्रीका के जंगलों में पाया जाता है।

भारत शेर के लिए सबसे सुरक्षित स्थान है। इतना ही नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति में शेर का महत्वपूर्ण स्थान है। हमारे देश के राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ में भी शेर का चित्र चित्रित किया गया है।

इतना ही नहीं बल्कि शेर कई देशों का राष्ट्रीय पशु भी है। अधिकांशतः यह समूह में रहना पसंद करता है और समूह का सबसे ताकतवर शेर समूह का मुखिया होता है, जिसे ‘बब्बर शेर'(babbar sher) के नाम से जाना जाता है।

इस खौफनाक जानवर की लंबाई लगभग 3 फीट और ऊंचाई 10 फीट तक होता है। एक वयस्क शेर को 1 दिन में लगभग 7kg और एक शेरनी को लगभग 5kg मांस की आवश्यकता होती है।

शेरनी का गर्भकाल औसतन 110 दिनों का होता है। शेरनी एक बार में लगभग 5 से 7 बच्चों को जन्म देती है। परंतु इनमें से लगभग 80% बच्चा जन्म से 2 वर्षों के भीतर ही मर जाता है।

आमतौर पर शेरनी अपने शावकों को 8 महीने तक दूध पिलाती है। इतना ही नहीं बल्कि जब शेर का बच्चा जन्म लेता है, तो वह तेंदुए से मिलता -जुलता रहता है और उसकी आंखें बंद होती है।

शेर और शेरनी में सबसे खास अंतर यह है कि, शेर के गर्दन पर घने लंबे बाल होते हैं, जबकि शेरनी के गर्दन पर बाल नहीं होते हैं। शेर के बारे (Lion in Hindi/ About Lion in Hindi) में  एक खास बात यह है कि, इस की सुनने की क्षमता काफी तीव्र होती है।

यह अपने शिकार के आवाज को लगभग 1 मील दूर से भी सुन सकता है। आमतौर पर अफ्रीकन शेर एशियाई शेरों से ज्यादा शक्तिशाली होता है।

भारत के गुजरात राज्य के गिर क्षेत्रों में शेर पाया जाता है। 2015 में यहां लगभग 523 शेर थे। शेर भारत का राष्ट्रीय पशु 1972 से पहले हुआ करता था।

उसके बाद भारत सरकार द्वारा बाघ को राष्ट्रीय पशु (Indian National Animal in Hindi) घोषित किया गया। शेर के शावक का वजन जन्म के समय 1.2kg से 2.1kg के बीच होता है।

शावक जन्म से लगभग 3 सप्ताह बाद चलना शुरू करता है। शेर का सबसे पुराना जीवाश्म लाटोली, तंजानिया से प्राप्त हुआ है।

Long Type Eassy About Lion in Hindi । शेर पर निबंध

शेर एक खौफनाक जंगली जानवर है। जिसके भय से न केवल जंगल के जानवर बल्कि मनुष्य भी भयभीत रहते है। शेर को बहादुरी और ताकत का प्रतीक माना जाता है।

यह पृथ्वी पर मौजूद सबसे खतरनाक नरभक्षी है। जिससे बचना लगभग असंभव होता है। यह एक ऐसा जानवर है जो 24 घंटे में 20 घंटे आराम करता है।

शेर प्रतिदिन लगभग 2 घंटे तक चलता है और लगभग 50 मिनट खाने में व्यय करता है। आमतौर पर शेर शाम को शिकार करता है। यह अक्सर झाड़ियों में छिप कर, नदियों, तालाबों के किनारे अपने शिकार पर आक्रमण कर उसका शिकार करता है।

शेर का पसंदीदा शिकार हिरन, भैंस , नील गाय इत्यादि होता है। जंगलों की रौनक शेर से ही बढ़ता है। शेर के झुंड का सबसे ताकतवर शेर झुंड का मुखिया होता है।

शेरनी, शावक और कुछ नर शेर झुंड का सदस्य होता है। यह एक ऐसा जानवर है, जो मैदानी घास के क्षेत्रों में रहता है। शेर मुख्य रूप से एशिया और अफ्रीका में पाया जाता है।

यह भी सही है कि, शेर बिल्ली के प्रजाति का ही एक सदस्य है। जंगल में खौफ का एक कारण शेर का दहाड़ भी है। जिसे 5 -7 किलोमीटर दूर तक सुना जा सकता है।

सबसे आश्चर्य की बात तो यह है कि, पूरे दुनिया में शेर से ज्यादा उसकी मूर्तियां बनाई गई है। शेर का जीवन का 15 से 20 वर्षों का होता है।

शेर इसका वजन औसत रूप से 250kg होता है। वैसे तो शेर के भी अनेक प्रजातियां होती है। आमतौर पर एशियाई शेर अफ्रीकन शेरों से कमजोर होता है।

शेर का शारीरिक संरचना (Body Structure of Lion)

जहां तक शेर की शारीरिक संरचना की बात है, तो शेर की मांसपेशियां बहुत मजबूत होती है। जिससे शेर काफी तेजी से अपने शिकार का पीछा करते हैं और लंबा छलांग मारते हैं।

इन सब कार्यों में उसकी लंबी पूंछ उसके शरीर का संतुलन बनाए रखता है। शेर के गर्दन के चारों और लंबे -लंबे घने बाल होते हैं। जो भूरे रंग का होता है।

सबसे बड़ी खासियत यह है कि, शेर का जबड़ा बहुत बड़ा होता है। इसमें दो नुकीले दांत होते हैं। जो किसी भी जानवर के मोटे से मोटे चमड़े को भी फाड़ देता है।

इसके अलावा शेर को चार पैर होते हैं। जिसमें काफी नुकीले-नुकीले नाखून होते हैं। साथ ही साथ शेर का आँख भूरे रंग का होता है। जो रात में चमकता है। इस भयंकर जानवर का शरीर 10 फीट लंबा होता है।

आमतौर पर एक वयस्क शेर के मुंह में 30 दांत होते हैं। इसकी सुनने की शक्ति काफी तेज होती है। यह अपने शिकार का आवाज 1 मील दूर से भी सुन सकता है।

शेर का प्रजातियां (Species of Lion)

वर्तमान समय में शेर के कई प्रजाति विलुप्त हो चुके हैं। परंतु फिर भी इसके कुछ प्रजाति आज भी दुनिया के विभिन्न हिस्सों में पाया जाता है। पृथ्वी पर शेर के 12 प्रजातियां मौजूद है।

शेर के कुछ प्रजाति के नाम इस प्रकार हैं- Barbary Lion, West African Lion, Masai Lion, Transvaal Lion, Asiatic Lion. शेर जंगल का अभिन्न हिस्सा है।

मनुष्य द्वारा शेर का शिकार किए जाने की वजह से आज विश्व में शेर की संख्या में बहुत कमी आई है। 2018 में भारत में शेरों की कुल संख्या मात्र 523 थी।

अभी तक मिले सबसे पुराना शेर का जीवाश्म तंजानिया में लाटोरी से मिला है। जो लगभग 35 लाख वर्ष पुराना माना जाता है। शेर के प्रजाति में “Barbery Lion” सबसे बड़ा होता है।

शेर का जीवन शैली (Lifespan of Lion)

शेर एक ऐसा जानवर है, जो अपना अधिकांश समय आराम करने में ही बिता देता है। शेर के बारे में (Lion in Hindi/ About Lion in Hindi) कहा जाता है की, यह एक दिन में अपना लगभग 90% समय सोने में बिता देता है।

शेर लगभग 50 मिनट अपना भोजन करने में बिताता है। एक शेर 1 दिन में औसत रूप से 2 घंटे तक जंगल में चलता फिरता है। शेर अपना समय सोने के अलावा अपने झुंड के सदस्यों के साथ खेलकूद में भी व्यय करता है।

औसतन एक जंगली शेर का जीवनकाल 15 से 20 वर्षों का होता है। परंतु चिड़ियाघर में रहने वाले शेर अच्छे देखभाल के कारण 25 वर्षों तक जीवित रह सकता है। यह अधिकांशतः झुंड में रहता है।

शेर में प्रजनन (Reproduction in Lion)

प्रजनन प्रकृति द्वारा प्रदान किया गया एक ऐसी प्रक्रिया है। जिसके माध्यम से जीव अपनी संख्या में वृद्धि कर अपना अस्तित्व बनाए रखता है।

शेर एक ऐसा जीव है, जो लैंगिक द्विरूपता को दर्शाता है अर्थात नर एवं मादा अलग दिखाई देते हैं। आमतौर पर शेरनी 4 साल की उम्र में ही परिपक्व होकर प्रजनन करने लगती है। शेरनी में संभोग क्रिया कई दिनों तक चलता रहता है।

इस क्रम में शेर और शेरनी 1 दिन में लगभग 50 बार तक संभोग कर सकते हैं। इतना ही नहीं बल्कि शेरनी जब उष्मित होती है। तो वह एक से अधिक शेरों के साथ भी संभोग कर सकती है।

शेर एक ऐसा जानवर है, जो शेरनी के अलावा बाघ, तेंदुआ इत्यादि से भी संभोग कर संकर का निर्माण करते हैं। शेरनी का गर्भकाल 110 दिनों का होता है।

शेरनी एक बार में 7 से 8 बच्चों को जन्म देती है। शेर का बच्चा शावक कहलाता है। जो जन्म के समय नेत्रहीन होता है। साथ ही इस का वजन 1.2-2.1kg के बीच होता है।

आमतौर पर शेरनी 8 महीने तक अपने शावक को दूध पिलाती है। शावक जन्म के 3 सप्ताह बाद चलने लगता है। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि, शेर के शावक का मृत्यु दर काफी उच्च होता है क्योंकि इसका 80% बच्चा जन्म से 2 साल के भीतर ही मर जाता है।

भारत में शेर का महत्व (Importance of Lion in India)

भारत में शेर का महत्वपूर्ण स्थान है। भारत शेर का सबसे सुरक्षित एवं आदर्श स्थान है। 1972 से पहले शेर भारत का राष्ट्रीय पशु हुआ करता था।

इतना ही नहीं बल्कि भारत के राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ पर भी शेर को चित्रित किया गया है। भारत सरकार द्वारा शेर के संरक्षण हेतु कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

यही कारण है कि, भारत में शेर एशिया के अन्य देशों की अपेक्षा सबसे ज्यादा पाया जाता है। इस प्रकार हम देखते हैं कि भारत में शेर का महत्व बहुत ही ज्यादा है।

उपसंहार (Conclusion)

शेर एक बहादुर एवं ताकतवर जानवर है। यह शान का प्रतीक है। हमें इसका संरक्षण करना चाहिए। वास्तव में यह जंगल का राजा है।यह जंगल में मौजूद महत्वपूर्ण स्तनधारी जीव है।

जिसका अस्तित्व पृथ्वी पर बनाए रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है। अतः शेर पृथ्वी पर मौजूद सबसे महत्वपूर्ण जानवरों में से एक है।

शेर से संबंधित दस रोचक तथ्य। 10 Lines About Lion in Hindi

  • शेर एक मांसाहारी जानवर है एवं यह जंगल का राजा कहलाता है।
  • शेर मुख्य रूप से एशिया और अफ्रीका में पाया जाता है।
  • शेरनी का गर्भावधि औसतन 110 दिनों का होता है।
  • शेर का वैज्ञानिक नाम ‘Panthera leo’ होता है।
  • शेर तैरना भी जानता है।
  • अफ्रीकन शेर, एशियाई शेरों से ज्यादा ताकतवर होता है।
  • सिंह सबसे लंबा फेलिने है और बाघ के बाद दूसरा सबसे भारी फेलाइन है।
  • इसकी लंबाई लगभग 10 फीट होती है।
  • यह 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता।
  • शेरनी औसतन 8 महीने तक अपने बच्चे को दूध पिलाती है।

Related Posts :