Domain Authority Kya Hai

Domain Authority Kya Hai – डोमेन ऑथोरिटी क्या है?

Share this 👇

डोमेन अथॉरिटी क्या है – What is Domain Authority in Hindi? – अगर आप एक Blogger है, और आप अभी तक Domain Authority Kya Hai नहीं जानते हैं, तो आज के इस Blog Post में हम आपको डोमेन अथॉरिटी क्या है, और हम अपने वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी कैसे बढ़ा सकते है? के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूँ।

So, Domain Authority Kya Hota Hai के बारे में पूरे विस्तार से जानने के लिए पोस्ट को लास्ट तक पढ़े।

डोमेन अथॉरिटी क्या है – Domain Authority Kya Hai?

Domain Authority (DA) किसी भी Blog/Website के लिए एक प्रकार का मापदंड (Measurement) होता है। जो यह बताता है, कि SERPs (Search Engine Result Pages) मे आपकी वेबसाइट की क्या Ranking है।

दूसरे शब्दों में, यह एक प्रकार का SEO रैंकिंग Score है, जिसे MOZ द्वारा Develop किया गया है। इसकी Ranking Score 1 से 100 के बीच होती है।

किसी भी वेबसाइट का DA यह बताता है, कि Search Engine जैसे कि (Google, Yahoo और Bing) में उस वेबसाइट की क्या Ranking है।

वैसे तो किसी भी साइट का DA बहुत सारे Factors पर Depend करता है। But, इन सभी में से कुछ Important Factors मै आपको बताने वाला हूं। जिसके द्वारा आप अपनी Blog/Website के DA को Improve कर सकते हैं।

अपने वेबसाइट का Domain Authority कैसे बढ़ाये – How to Improve Domain Authority?

01. Choose Related Domain Name

अपने Blog या Website के लिए हमेशा अपने Blog के Niche से Related Domain Name Choose करे।

02. Domain Age

किसी भी वेबसाइट का DA इस पर भी Depend करता है, कि आपकी वेबसाइट कितनी पुरानी है, मतलब आपके वेबसाइट का Domain Age क्या है?

अगर आपकी वेबसाइट 5 से 6 साल पुरानी है और आप लगातार उस पर Quality Content लिख रहे हैं, और उसमें कोई Error या Low Quality Links नहीं है, तो जरूर आपके Blog की DA बहुत अच्छी होगी।

अगर आप किसी भी वेबसाइट का Domain Age Check करना चाहते है, तो Whois Domain के द्वारा कर सकते है। साथ ही इसके अलावा और कई सारे Website Age Checker Tools ऑनलाइन Available है, जिससे आप वेबसाइट के Age का पता लगा सकते है।

03. On-page SEO

On-page SEO भी आपके साइट की DA बढ़ाने के लिए सबसे Important Factor में से एक है।

आपको अपने Blog Post लिखने वक्त निम्न कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • आप अपने Blog Post की Length Minimum 800 से 1000 शब्दों के बीच रखें।
  • Article लिखने वक्त 150 से 200 शब्दों के बाद Paragraph जरूर Change करें। इससे कोई भी Visitor आपके साइट पर बोर नहीं होगा और आपकी साइट की की Page View Time बढ़ जाएगी।
  • पूरे Blog Post में कम-से-कम 2 अच्छे Quality Images जरूर Use करें। आर्टिकल को और भी बेहतर बनाने के लिए आप आर्टिकल से रिलेटेड एक वीडियो का भी यूज कर सकते हैं। इससे आपके साइट की Readability और भी अच्छी हो जाएगी।
  • Blog Post Image Insert करने के बाद आप से अच्छी तरह Optimize करें।
  • पूरे आर्टिकल में आप अपने Main Keyword का Use सिर्फ 1.5% से 2.0% के बीच ही करें। इससे ज्यादा Keyword Use करने पर आपका Blog Post Keyword Suffering में चला जाएगा। जिससे गूगल द्वारा आपकी वेबसाइट को Penalty भी भुगतनी पड़ सकती है।
  • आप अपने Main Keyword को Bold और Additional Keyword को Italic करें।
  • आप अपने पूरे ब्लॉग पोस्ट में Heading H1, H2 or H3 का इस्तेमाल जरूर करें। इससे Readers को पढ़ने में Comfortable महसूस होता है।

04. Internal Linking

Internal Linking आपके Blog या Website के DA को Improve करने के लिए Most Important Factors में से एक है।
कई नए Blogger External Link बनाने के चक्कर में Internal Linking को भूल जाते हैं। आप ऐसा बिल्कुल भी नहीं नहीं करें।

05. Check Loading Speed Of Webpages

अगर आपके Blog/Website के Webpage की Loading Time ज्यादा है, तो यह आपके वेबसाइट के लिए अच्छा संकेत नहीं है। यह SERPs (Search Engine Result Pages) को Effect करता है। इसलिए आप अपनी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को Check करते रहे।

आपके वेबसाइट की Webpage Loading Speed 2-3 Second के बीच होनी चाहिए। अगर आपके Site की लोडिंग स्पीड इससे ज्यादा है, तो आप तुरंत अपने Current Hosting Plan को Upgrade करें।

क्योंकि किसी भी Visitor के पास इतना टाइम नहीं होता कि वह आपकी वेबसाइट की लोड होने का इंतजार करते रहे हैं। इसलिए अगर आपके Webpage की लोडिंग स्पीड ज्यादा है, तो Visitor तुरंत Back Click कर देता है। जिससे आपके वेबसाइट की Bounce Rate बढ़ जाती है।

Note: अगर आप Blogging Field में Success होना चाहते है, तो Hosting खरीदने वक्त आप पैसे की कंजूसी बिल्कुल भी नही करें।

06. Number of Quality Backlink

Backlinks in Hindi

आपके साइट के DA को improve करने के लिए आपके साइट के लिए Quality Backlink का होना बहुत ही जरूरी है।

अगर आपकी साइट पर कोई High Domain Authority वाली साइट जैसे Wikipedia या Quora आदि से Traffic आता है, तो यह आपके Blog के लिए बहुत ही Beneficial होगा। इससे सर्च इंजन रैंकिंग (SERPs) में Improvement के साथ-साथ आपके Site ट्रैफिक भी बढ़ेगी।

07. Remove Toxic or Bad Backlink

किसी भी ब्लॉग के लिए Quality Backlink बनाना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी है – Toxic और Bad Backlinks को Remove करना।

Toxic or Bad Backlinking के कारण आपकी साइट सर्च इंजन रैंकिंग दिन-प्रतिदिन Down होती जाती है। इसलिए समय-समय पर आप अपने साइट की Bad Backlinks को Remove करते रहे। इस प्रकार के Link आपके साइट को फायदे के बदले नुकसान पहुंचाने का काम करता है।

08. Promote Content On Social Media

Social Media Post

किसी भी Blog/Website के Ranking में Social Media का एक अहम योगदान होता है। लगभग सभी सोशल मीडिया के DA (Domain Authority) High होती है।

इसलिए आप अपने सभी Blog Post Link को सोशल मीडिया (Facebook, Twitter, Pinterest, Linkdln) पर Share करने के साथ-साथ उसे Promote जरूर करें।

09. Regularly Write Original Content

कहा जाता है, कि “Content is the King”. मतलब आपके साइट पर जितना अच्छा Content होगा। उतना ही ज्यादा Visitor आपके साइट पर Visit करेगें।

अपने साइट के DA को इंप्रूव करने के लिए Regularly Quality Content लिखना बहुत ही जरूरी है। लगातार अच्छी और Quality Content लिखने से Readers को आपके Blog के प्रति एक Trust बन जाता है। जिससे वह रीडर्स बार-बार आपके Blog पर आर्टिकल पढ़ने के लिए आता है। इससे आपके साइट Page View Time बढ़ेगी और Bounce Rate घटेगी।

Q. Bounce Rate क्या होता है – What is Bounce Rate in Hindi?

जब कोई भी Readers है आपके साइट पर Article पढ़ने के लिए आता है और अगर उसे आपकी ब्लॉग पोस्ट अच्छी नहीं लगती है, तो वह तुरंत Back Click कर देता है। जिससे आपके साइट की की Bounce Rate बढ़ जाती है।

But, अगर रीडर्स को आपकी ब्लॉग पोस्ट अच्छी लगती है, तो वह उस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ता है। जिससे आपके साइट की Page View टाइम बढ़ती है और Bounce Rate घटती हैं।

10. Guest Posting

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट के DA को Improve करने के लिए Guest Posting एक अचूक तरीका माना जाता है। Guest Posting से आप ना सिर्फ अपने ब्लॉग के DA को इंप्रूव कर सकते हैं बल्कि अपने साइट की Rafferal Traffic भी Increase कर सकते हैं।

But, ध्यान रहे आजकल कुछ Bloggers या आपके Haters आपको नुकसान पहुंचाने के लिए Guest Posting के बदले Spamming को बढ़ावा रहे हैं।

वह किसी दूसरे का Blog Post कॉपी करके Paste कर देता है। जो किसी भी Blog के लिए बहुत ही नुकसानदायक हैं।

इस तरह की Activity से आपके Blog की DA Increase नहीं बल्कि Decrease होगी। इसलिए जितना हो सके इस तरह के Spamming से बचने का प्रयास करें।

Q. अपने वेबसाइट का DA कैसे Check करे?

MOZ Domain Authority Checker

अगर आपको अपने या किसी और के वेबसाइट का DA चेक करना चाहते है, तो आप MOZ Domain Authority Checker Tool का इस्तेमाल कर सकते है। यह एक बहुत ही अच्छा DA,PA Checker Tools है।

Check Your Website DA

11. Patience

जी हां ! इस List में सबसे Last और Important Factor है : Patience (धैर्य). SEO कोई एक दिन या एक रात का Game नहीं है, बल्कि इसमें महीनों और सालों लग जाते हैं।

कई नए Bloggers शुरुआत में तो जोश से Blogging Field में कदम रखते हैं But, Patience नहीं रख पाने के कारण वाह इस Field में असफल (Unsuccess) हो जाते हैं।

अगर आप अपने Site की DA (Domain Authority) Improve करना चाहते हैं, तो उपयुक्त सभी Factors आपके लिए बेहद ही उपयोगी है। अगर आप इन सभी फैक्टर्स को ध्यान में रखते हुए अपने ब्लॉग पर Regularly Work करते हैं, तो Definitely आपके Blog की DA Increase होगी।

उम्मीद है, कि इस पोस्ट में आपको Domain Authority Kya Hai और अपने Website का DA कैसे बढ़ाये? इन सभी सवालों के जवाब मिल गए होंगे।

But, फिर भी आपके मन में Domain Authority से Related कोई भी सवाल हो, तो आप बेझिझक नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। मैं जल्द-से-जल्द आपके सवाल के जवाब देने का प्रयास करूंगा।

साथ ही अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो, तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के बीच शेयर जरूर करें?

ये भी पढ़े-

Share this 👇