Essay on Parrot in Hindi, About Parrot in Hindi, Information About Parrot in Hindi

Parrot in Hindi/ About Parrot in Hindi । तोता के बारे में

Share this 👇

Essay on Parrot in Hindi/ About Parrot in Hindi । तोता के बारे में : दोस्तों, आज मैं कक्षा 1 से 12 तक के सभी  विद्यार्थियों के लिए तोता पर निबंध (Tota Par Nibandh) लिखने का प्रयास करी हुँ।

इस आर्टिकल अर्थात ‘Parrot in Hindi/ About Parrot in Hindi’ के माध्यम से आज हमने तोता से संबंधित लगभग सभी तथ्यों के बारे में विस्तार से लिखने का प्रयास करी हुँ, और उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को पसंद आएगी।

तो चलिए चलते है, अपनी मुद्दे की ओर और जानते हैं। तोता नामक इस सुंदर और चंचल पक्षी के बारे में (About Parrot in Hindi) कुछ अनकहे, अनसुने और  रोचक बातें।

Parrot in Hindi/ About Parrot in Hindi । तोता के बारे में 

तोता एक सुंदर, शांत और चंचल पक्षी है। इसकी सुंदरता से आकर्षित होकर सभी तोता को अपने घर में पालना और प्यार करना चाहता है। वास्तव में तोता एक प्यारा पक्षी है।

यह एक मध्यम आकार का पक्षी है। जो दुनिया के लगभग सभी देशों में पाया जाता है। तोता अलग-अलग देशों में अलग-अलग रंगों में पाया जाता है, अर्थात तोता अनेक रंगों में पाए जाते हैं।

तोता को अन्य पक्षियों से भिन्न उनकी चोंच बनाती है, क्योंकि तोता का चोंच लाल होता है। इतना ही नहीं बल्कि तोता (Parrot in Hindi) की प्रजातियां दुनिया भर में पाई जाती है।

जो विश्व के अलग-अलग देशों में पाए जाते हैं। भारत में तोता का रंग हरा होता है। इतना ही नहीं बल्कि तोता के गले के चारों तरफ काले रंग की रिंग होती है, जिसे ‘कंठी’ कहा जाता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि, तोता की आंखें काली और काफी चमकदार होती है। जिसके चारों ओर भूरे रंग की बनी हुई वलय रहती है। आमतौर पर यह पक्षी झुंड में रहना पसंद करती हैं। तोता का औसत आयु काल ’15-20′ वर्षों का होता है।

Eassy on Parrot in Hindi in 250 Words

तोता एक मध्यम आकार की पक्षी है, जो अक्सर झुंड में ही रहना पसंद करती है। यह पक्षी बहुत ही सुंदर एवं आकर्षक होती है। भारत में पाए जाने वाले तोता का रंग हरा होता है।

जबकि अन्य देशों में यह कई भिन्न-भिन्न रंगों में पाया जाता है। तोता विश्व के उन पक्षों में शुमार है। जिसे लोग सबसे ज्यादा चाहते हैं और पालना पसंद करते हैं।

तोता की शरीरिक संरचना काफी खूबसूरत होता है। इसका सिर इसके शरीर की तुलना में छोटा होता है। तोता का चोंच लाल रंग का होता है एवं अन्य पक्षियों की तुलना में अद्वितीय होती है।

क्योंकि तोता का चोंच ऊपरी भाग से नीचे की ओर मुड़ा हुआ होता है। तोता एक बुद्धिमान एवं समझदार पक्षी है, क्योंकि तोता को प्रशिक्षण देकर कोई भी भाषा और बोली सिखाया जा सकता है।

आमतौर पर तोता (Parrot in Hindi) को लोग ‘मिट्ठू’ के नाम से पुकारते हैं। इसकी आवाज कर्कश भरी होती है। वैसे तो तोता विश्व के अनेक देशों में पाया जाता है।

परंतु ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ऐसा देश है। जहां मुख्य रूप से तोता का निवास स्थान है। इन्हीं दोनों देशों से तोता अन्य देशों को भेजा जाता है।

तोता का जीवन काल 15 से 20 वर्षों का होता है। लेकिन एक तोता के नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में सबसे ज्यादा जीने का रिकॉर्ड दर्ज है जो 82 साल जिया था एवं जिसका नाम Cookie था।

दुनिया भर में तोते की कई प्रजातियां पाई जाती है। जहां तक इस मध्यम आकार की पक्षी का वजन की बात है तो इसका वजन 500g से 1kg के बीच होता है। परंतु तोते की कुछ प्रजातियां का वजन बिल्ली के वजन के बराबर होता है।

Information About Parrot in Hindi in 350 Words

तोता एक शाकाहारी पक्षी है। जो मुख्य रूप से दूध, फल, बीज, मिर्च, पत्तियां, दाना इत्यादि खाता है। तोता दुनिया की एक ऐसी पक्षी है, जो अपने भोजन को पंजे में दबाकर खाती है।

तोता का सबसे पसंदीदा फल आम और अमरूद है। तोता कई रंगों में पाया जाता है। जैसे : हरा, सफेद ,सतरंगी, पीला, लाल।मध्यम आकार की इस पक्षी की लंबाई 10 से 12 इंच होती है।

तोता आमतौर पर पैड़ो के तने में गोल छेद बनाकर या उनमें घोंसला बनाकर रहती है। जिसे ‘कोटर’ कहा जाता है। यह काफी तेज गति से उड़ती है।

तोता इतनी समझदार और बुद्धिमान पक्षी है कि, यह मनुष्यों के आवाज का नकल उतार सकती है और उसके द्वारा बोले जाने वाले बोली को भी सीख सकती है।

तोता का वजन 500 ग्राम से 1 किलोग्राम के बीच होता है। दुनिया में सबसे छोटे आकार की तोता का नाम Pygmy parrot है जो मात्र एक उंगली के आकार का होता है।

जबकि Kakapo नामक तोता का प्रजाति इतना वजनदार होता है कि, उड़ भी नहीं पाता है। इस कारण इस प्रजाति का शिकार काफी ज्यादा होता है।

इन्हीं कारणों की वजह से तोता का यह प्रजाति विलुप्त होने के कगार पर पहुंच गया है। वैसे दुनिया में तोता का 350 से अधिक प्रजातियां पाई जाती है।

जो किसी भी पक्षी के प्रजाति से ज्यादा है। यह पक्षी हमेशा 10-15 की समूह में भोजन ढूंढती और रहती है। तोता मुख्य रूप से गर्म जगहों पर पाया जाता है।

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड तोता का मुख्य निवास स्थान है। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि तोता में नर एवं मादा को पहचानना बहुत ही मुश्किल होता है। इस कारण ब्लड टेस्ट के जरिए तोता के नर या मादा होने का पता लगाया जाता है।

मादा तोता आम तौर पर 1 साल में 10-15 अंडे तक दे सकती है। तोता के अंडे की अद्वितीय विशेषता यह है कि तोता चाहे किसी भी रंग का हो। परंतु उसके अंडे का रंग एक समान सफेद होता है।

इतना ही नहीं बल्कि तोता का एक विशेषता यह है कि यह अपने भोजन की तलाश में लगभग 1000 किलोमीटर से ज्यादा तक की उड़ान भर सकती है।

Parrot Essay in Hindi in 250 Words। तोता पर निबंध 

तोता का वैज्ञानिक नाम Pssittaciformes होता है। अमूमन भारत में हरे रंग का तोता पाया जाता है। परंतु दुनिया के भिन्न-भिन्न देशों में तोता का रंग भिन्न भिन्न होता है। जैसे : सफेद, नीला, पीला, लाल, सतरंगी।

इतना ही नहीं बल्कि तोता के कुछ प्रजातियां बिरंगे भी होते हैं। तोता एक ऐसा पक्षी है, जिसका सबसे ज्यादा प्रजाति होता है। तोता का लगभग 350 से भी ज्यादा प्रजातियां विश्व के विभिन्न भागों में पाया जाता है।

यह पक्षी काफी प्यारा, सुंदर और मनमोहक है। इसे नकलची पक्षी भी कहा जाता है, क्योंकि यह मनुष्य के आवाज का नकल कर सकता है और उसके जैसा आवाज निकाल सकता है।

इतना ही नहीं बल्कि तोता को प्रशिक्षण देकर विभिन्न बोली भी सिखाया जा सकता है। हमारे भारतीय समाज में तोता को अक्सर राम-राम, सीताराम इत्यादि शब्द सिखाया जाता है।

तोता एक मध्यम आकार की शाकाहारी पक्षी है, जो दूध, बीज, अमरुद, मिर्च ,आम इत्यादि खाता है। तोता का चोंच ऊपरी भाग में मुड़ा हुआ होता है एवं लाल होता है।

तोता के गले में चारों ओर काले रंग की वलय होता है, जिसे कंठी कहते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि तोता की आंखें काफी चमकीली और काले रंग की होती है।

साथ ही उनके चारों और भूरे रंग की रिंग होती है। तोता का पंजा काफी मजबूत होता है। यह एक ऐसा पक्षी है जो अपने भोजन को पंजे से पकड़ कर खाता है, क्योंकि इसके पंजे की पकड़ काफी मजबूत होती है।

तोता काफी तेज रफ्तार से उड़ सकता है। खास बात तो यह है कि तोता एक बार में 1000 किलोमीटर लंबा उड़ान भर सकता है। यह अक्सर समूह में रहना पसंद करता है।

इस पक्षी का वजन 500 ग्राम से 1 किलोग्राम तक हो सकता है। तोता एक ऐसा पक्षी है, जिसमें नर एवं मादा का अंतर कर पाना बहुत मुश्किल होता है। इसीलिए ब्लड टेस्ट से इसका पता लगाया जाता है।

तोता के निवास स्थान या घोसला को कोटर कहा जाता है। तोता मुख्यतः न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है। अन्य देशों को तोता यहीं से भेजा जाता है।

तोता अक्सर गर्म स्थानों पर पाया जाता है। तोता का जीवनकाल 15 से 20 वर्षों का होता है। परंतु 82 साल जीने का गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड Cookie नामक तोता के पास है।

मादा तोता 1 साल में 10 से 15 अंडे दे सकती है। तोता का अंडा हमेशा सफेद होता है, चाहे तोता किसी भी रंग का हो। मादा तोता औसतन 24 से 28 दिन में अंडा देती है।

हमारे भारतीय संस्कृति में तोता को प्यार से मिट्ठू कह कर पुकारा जाता है। तोता को मुख्य रूप से जामुन, अमरूद, नीम इत्यादि वृक्षों पर देखा जा सकता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि तोता का आवाज कर्कश भरी होती है। जिसे 1 किलोमीटर दूर तक सुना जा सकता है। वास्तव में तोता एक बुद्धिमान पक्षी है।

विश्व में पाए जाने वाले तोते का एक प्रजाति काफी भारी होता है। यह उड़ने में भी असमर्थ होता है। जबकि सबसे छोटा तोता एक उंगली इतना ही बड़ा होता है। भारत में तोता को स्थानीय नाम ‘सुआ या सुगा’ भी कहा जाता है।

Long Type Eassy About Parrot in Hindi

हमारे ग्रह पृथ्वी पर कई तरह के जीव-जंतु और पशु-पक्षी निवास करते हैं, जो अपने विशिष्ट गुण के कारण पृथ्वी पर अपना एक अलग पहचान बनाए हुए हैं। उन्हीं में से एक तोता भी है।

जो अपने सुंदर एवं मनमोहक रंग के कारण विश्व में अपना एक अलग पहचान बनाए हुए हैं। तोता एक मध्यम आकार की पक्षी है जो अलग-अलग भागों में अलग-अलग रंगों में पाया जाता है। जैसे- सफेद, नीला, हरा, सतरंगी, पीला, लाल इत्यादि।

इस मध्यम आकार की पक्षी की लंबाई 10 से 12 इंच होती है। तोता एक समझदार और बुद्धिमान पक्षी है। यह किसी मनुष्य के संपर्क में रहने से उसके आवाज का नकल कर सकता है। साथ ही उसका भाषा भी सीख सकता है।

इतना ही नहीं बल्कि तोता को प्रशिक्षण देकर कोई भी भाषा सिखाया जा सकता है। हमारे देश भारत में जब कोई अतिथि या मेहमान घर आते है, तो तोता अक्सर ‘सीताराम या राम-राम’ बोल कर उसका स्वागत करता है।

इसी कारण हमारे समाज में तोता को प्यार से मिट्ठू कह कर पुकारा जाता है। तोता 1 दिन में भोजन की तलाश में लगभग 1000 किलोमीटर तक उड़ सकता है।

तोता के घोंसला या आश्रय स्थल को कोटर कहा जाता है। यह एक ऐसा पक्षी है, जो गर्म क्षेत्रों में रहना अधिक पसंद करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि तोते का जीवनकाल 10 से 15 वर्षों का होता है ।

तोता का शारीरिक संरचना (Body structure of Parrot) 

तोता एक ऐसी पक्षी है, जो अपने रंग और अद्वितीय चोंच के कारण अन्य पक्षियों से भिन्न होती है। भारत में तोता अक्सर हरे रंग का होता है।

जिसके चोंच का रंग लाल होता है। साथ ही इसकी आंखें काफी चमकदार और काले रंग की होती है I इतना ही नहीं इसके आंख के चारों और भूरे रंग की वलय होती है।

तोता के गले के चारों और काले रंग की रिंग होती है जो कंठी कहलाता है। इसका चोंच अन्य पक्षियों से बिल्कुल भिन्न ऊपरी भाग में मुड़ा हुआ होता है।

तोता का पंजा तो काफी छोटा होता है, परंतु बहुत मजबूत होता है। सबसे बड़ी खासियत तो यह है कि, इसकी आवाज कर्कश भरी होती है जो 1 किलोमीटर दूर से भी सुना जा सकता है। तोता का वजन 500 ग्राम से 1 किलोग्राम के बीच होता है।

तोता का प्रजाति (Species of Parrot)

पृथ्वी पर मौजूद तोता एक ऐसी पक्षी है, जिसकी प्रजातियों की संख्या सबसे अधिक है।अभी तक हुई खोज के अनुसार, तोता की लगभग 350 से भी अधिक प्रजातियों की खोजी जा चुकी है।

उनमें से कुछ निम्नलिखित है : eclectus, sun conure, scarlet macaw, blue and gold macaw, cilac-crowned amazon. तोता की सबसे छोटी प्रजाति का नाम ‘Pygmy Parrot’ है जो मात्र एक उंगली के बराबर होता है।

‘Kakapo’ नामक तोता का प्रजाति बहुत ही वजनदार होता है। यह अपने वजन के कारण उड़ भी नहीं पाता है। तोता का कुछ प्रजाति बिल्ली के वजन इतना भी हो सकता है।

तोता का भोजन (Food of Parrot)

यह तो हम सभी जानते हैं कि, तोता एक शाकाहारी पक्षी है। तोता मुख्य रूप से दूध, फल, पत्तियां, बीज, दाना इत्यादि खाता है। घरों में पाले जाने वाला तोता दूध-भात या दूध-रोटी भी खाता है।

तोता का सबसे प्रिय फल आम और अमरुद है। तोता अपने भोजन को पंजे से पकड़ कर खाता है। यह एक ऐसी पक्षी है जो अक्सर झुंड या समूह में भोजन ढूंढती या खाती है।

तोता का निवास स्थान (Habitat of Parrot)

घरों में पाले जाने वाले तोता को पिंजरे में रखा जाता है I परंतु जंगल में रहने वाले तोता पेड़ों के तने में गोलाकार छेद बनाकर या घोसला बनाकर रहता है, जिसे कोटर कहा जाता है।

वैसे तो तोता दुनिया के हर कोने में पाया जाता है, परंतु न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया तोता का मुख आश्रय स्थल है। तोता बहुत सारे देशों को इन दोनों देशों से ही निर्यात किया जाता है l आमतौर पर तोता जामुन, अमरूद, नीम,के वृक्षो पर बैठा मिलता है।

मादा तोता की विशेषता (Characterization of Female Parrot)

दुनिया में तोता ही एक ऐसी पक्षी है। जिसके नर या मादा होने का पता ब्लड टेस्ट से होता है। मादा तोता 24 से 28 दिनों में अंडे देती है। जिसकी संख्या 1 साल में 10 से 15 तक हो सकती है।

सबसे खास बात तो यह है कि, हर तोता का अंडा सफेद होता है ,यद्यपि वह किसी भी रंग का हो।

उपसंहार (Conclusion) 

अंततः हम निष्कर्ष के रूप में कह सकते हैं कि, वास्तव में तोता मनुष्यों द्वारा पाले जाने वाला सबसे सुंदर और मनमोहक पक्षी है। इसकी सुंदरता ही इसकी पहचान है।

यह विश्व की मनमोहक और बुद्धिमान पक्षियों में से एक है और हमें भी इस के साथ दयापूर्ण व्यवहार करनी चाहिए।

5 Lines About Parrot in Hindi

  • तोता सबसे सुंदर और आकर्षक पालतू पक्षी है।
  • इसकी चोंच लाल होती है।
  • तोता का जीवनकाल 15 से 20 वर्षों का होता है।
  • तोता का वैज्ञानिक नाम सिटाक्यूला केमरी होता है।
  • नर एवं मादा तोता का पहचान ब्लड टेस्ट से होता है।

Related Post :

Share this 👇

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *